क्या होता है कोरोनावायरस ?
कोरोनावायरस एक वयस्क वायरस  है जिसमें कई तरह के वायरस  शामिल है अगर इन वायरस को एक माइक्रोस्कोप से देखेंगे तो इसकी सतह पर मुकुट जैसे स्पाइक दिखेगे इसलिए इसका नाम करोना जो एक क्राउन की तरह हो, रखा गया है.

 कोरोनावायरस को 4 Sub category में क्लासिफाई किया 
जाता है.
1) अल्फा
2)  बीटा
3) गामा
                                              4) डेल्टा
1960 में पहली बार इंसानों में पाया जाने वाला कोरोनावायरस का पता चला था इसमें 
चार समान्य  टाइप के करोना वायरस है 229,  NL63, OC43, HKU1
दुनिया भर में लोग आमतौर में इन चार टाइप के मानव कोरोनावायरस से संक्रमित होते 
हैं ज्यादातर कोरोनावायरस जानवरों में पाए जाते हैं पर कभी कभी कोरोनावायरस जो 
जानवरों को संक्रमित कर सकते हैं वह लोगों को भी बीमार बना सकते हैं और एक 
नया मानव कोरोनावायरस बन सकते हैं.

हमको कुछ और असामान्य कोरोनावायरस के बारे में भी पता चला कि सॅऋव एक्यूट 
रेस्पिरेट्री सिंड्रोम (SARS), मिडल ईस्ट रेस्पिरेट्री सिंड्रोम (MERS) और सबसे नया  
COVID 2019 कोरोनावायरस
WHAT IS COVID19 कोरोनावायरस ?
COVID19 कोरोनावायरस एक Beta कोरोनावायरस है जिसके बारे में सबसे पहले चीन के 
वुहान शहर में पता चला इसको सांस संबंधी बीमारियों के प्रकोप के रूप में पहचाना 
जाता है यह वायरस वाहन शहर के मीट मार्केट से आया और उसका ओरिजिन चम्कादड 
बताए जा रहे हैं पहले यह बताया जा रहा था कि यह वायरस जानवरों और पशुओं से इंसानों में फैल रहा है किंतु रोगियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए यह पता चला कि अब यह वायरस 
एक इंसान से दूसरे इंसान में भी फैल रहा है.
इसके क्या लक्षण है?
यह वह लक्षण है जिससे पता चलता है कि कोई इंसान कोरोनावायरस से संक्रमित है 
कोरोना वायरस में सर दर्द होना, नाक से पानी निकलना , खांसी आना और गले में 
खराश है, बुखार आना बार - बार छींक आना और अस्थमा का बिगड़ जाना थकान का 
महसूस होना और निमोनिया भी हो सकता है.  इस वायरस की वजह से फेफड़ों में सूजन 
आ जाती है यह वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है और इसलिए यह 
घातक है और सुरक्षा के लिए उचित सावधानी बरतने की जरूरत है
क्या यह वायरस हवा से फैलता है?
यह वायरस संक्रमित लोगों के संपर्क में आने से फैलता है इसमें सभी संक्रमित इंसानों को 
Mask का प्रयोग करना चाहिए और हाथों को सैनिटाइज रखना चाहिए.
क्या इसकी वजह से आपकी जान जा सकती है ?

यह वायरस कम immunityवाले लोगों के लिए घातक साबित हो सकता है जैसे कि 
बच्चों और बुजुर्गों में यदि कोई पहले से ही किसी बीमारी जैसे अस्थमा निमोनिया इत्यादि 
से पीड़ित है तो उनके लिए यह वायरस जानलेवा हो सकता है ऐसा नहीं है कि जो भी 
इस वायरस से संक्रमित होता है वह मर जाता है ऐसे कई व्यक्ति है जो कि संक्रमण के 
8 से 15 दिन के बाद कोरोनावायरस संक्रमण से मुक्त हो गए हैं.
कोरोना वायरस से खुद को कैसे बचाये ?
अपने हाथों को धोना सबसे महत्वपूर्ण है जो आप कर सकते हैं अगर आपको जुखाम या 
फ्लु है तो आप Mask जरूर पहने, छिखते समय अपना मुंह ढक कर रखें हैंड सेनीटाइजर के साथ अपने हाथों को साफ करें कोरोनावायरस का अभी तक कोई भी इलाज नहीं है वैज्ञानिक 
कोरोनावायरस के लिए वैक्सीन बनाने की कोशिश में लगे हुए हैं

Post a Comment

If you have any dought please let me know

Previous Post Next Post
close