अपरा एकादशी क्या है और ये क्यु मनाई जाती है?

अपरा एकादशी के दिन भगवान विश्णु जी की विशेश पुजा कि जाती है.अपरा एकादशी को अचला एकादशी के नाम से भी जाना जाता है. मान्यता है कि इस दिन भागवान विश्णु जी कि विधी विधान से पुजा करने पर अपार धन सम्पदा एवम सम्मान मिलता है.

According to the Hindu calendar ज्येष्ठ मास (Month) मे कृष्ण पछ कि एकादशी तिथि (date) को अपरा एकादशी के रुप मे मनाया जाता है.















अपरा एकादशी की पूजा विधि :  प्रातः कालीन उड़कर घर कि साफ सफाई करे तत्पश्चात स्नान कर
नए वस्त्र धारण करे,  भगवान श्री हरि विष्णु जी कि सम्पूर्ण विधि विधान से पूजा करे उनको पूष्प एवं  
पीले वस्त्र चढ़ाये नारियल अर्पित करे, तुलसी पत्र भी चढ़ाये, दीप जलाये , निर्जल व्रत रखे और हरि कथा 
का पाठ करे संध्या कालीन में उनको धुप बत्ती  करके रात्रि को हरि कीर्तन या भजन करे और अगले दिन 
सुबह उठकर स्नान करे, गाय को अन्न खिलाये साधू अथवा गरीब व्यक्ति को अन्न दान करे. 

विधि विधान से पूजा करने से श्री हरि कृपा आप पर सदैव बनी रहेगी. 



Post a Comment

If you have any dought please let me know

Previous Post Next Post
close